मंगलवार, 16 मार्च 2010














ेरा हिज्र मेरा नसीब है


तेरा गम ही मेरी हयात है


मुझे तेरी दूरी का गम हो क्यों


तू कही भी हो मेरे साथ है


मेरे वास्ते तेरे नाम पे


कोई हर्फ़ आये ,नही नही


मुझे खौफे दुनिया नही ,


मगर मेरे रु - -रु तेरी जात है


मेरे रु - -रु तेरी जात है


तेरा वस्ल मेरी दिलरुबा


नही मेरी किस्मत तो क्या हुआ ?


मेरी महजबी मेरी महजबी


मेरी महजबी यही कम है क्या ?


तेरी हसरतों का तो साथ है


तेरी हसरतों का तो साथ है


..........................................................


निदा फाजली की ये रचना आप सभी ने सुनी होगी ,मगर मुझे पसंद है बेहद और ये गीत अक्सर सुनती हूँ इसलिए ब्लॉग पर डाल दी हूँ इस पसंद को




15 टिप्‍पणियां:

ज्योति सिंह ने कहा…

jaisa maine kahan behad pasand hai ,isliye tippani bhi nida ji ke liye meri hogi aage ,
[Photo]












तेरा हिज्र मेरा नसीब है

तेरा गम ही मेरी हयात है ।

मुझे तेरी दूरी का गम हो क्यों

तू कही भी हो मेरे साथ है ।

Udan Tashtari ने कहा…

बहुत आभार निदा फाज़ली साहब की इस बेहतरीन नज़्म को यहाँ लाने के लिए.

संजय भास्कर ने कहा…

हर शब्‍द में गहराई, बहुत ही बेहतरीन प्रस्‍तुति ।

संजय भास्कर ने कहा…

jyoti ji jwaab nahi aapka.....

Suman ने कहा…

nice

डॉ. मनोज मिश्र ने कहा…

yh vakai laajwaab gzl hai.aabhar.

निर्मला कपिला ने कहा…

तेरा वस्ल ऐ मेरी दिलरुबा


नही मेरी किस्मत तो क्या हुआ ?


मेरी महजबी मेरी महजबी


मेरी महजबी यही कम है क्या ?


तेरी हसरतों का तो साथ है
वाह बहुत खूब दिल को छू गयी ये पँक्तियाँ। धन्यवाद्

इस्मत ज़ैदी ने कहा…

ज्योति जी ,बहुत अच्छा collection है आप के पास ग़ज़लों ,नज़्मों का
धन्यवाद हम सब से बांटने के लिए

RaniVishal ने कहा…

Behad dilkash abhivyakti ..pad kar bahut accha laga.
Aapko dhanywaad.

manav vikash vigyan aur adytam ने कहा…

bhoot koob

rashmi ravija ने कहा…

निदा फाजली की इतनी सुन्दर नज़्म पढवाने का बहुत बहुत शुक्रिया...
(आपका दूसरा ब्लॉग नहीं खुल रहा )

Babli ने कहा…

हर एक पंक्तियाँ लाजवाब है! इस शानदार रचना ने दिल को छू लिया! उम्दा रचना!

JHAROKHA ने कहा…

Nida Fajali sahab kee itani sundar rachana padhvane ke liye abhar.

अक्षिता (पाखी) ने कहा…

बहुत सुन्दर है.


----------------------
"पाखी की दुनिया" में इस बार पोर्टब्लेयर के खूबसूरत म्यूजियम की सैर

अक्षिता (पाखी) ने कहा…

बहुत सुन्दर है.


----------------------
"पाखी की दुनिया" में इस बार पोर्टब्लेयर के खूबसूरत म्यूजियम की सैर